Saturday, September 24, 2022
HomeTrending NewsKrishna Janmashtami 2022 : श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब मनाई जायेगी : 18 मई...

Krishna Janmashtami 2022 : श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कब मनाई जायेगी : 18 मई या 19 मई

Krishna Janmashtami 2022 इस साल कब मनाया जाएगा? यह प्रश्न को लेकर लोगों में दुविधा बनी हुई है क्योंकि इस बार भी जन्माष्टमी की दो तारीख सामने आ रही है एक तो 18 मई है दूसरा 19 मई। अब जन्माष्टमी कब मनाई जाए। जन्माष्टमी के व्रत की शुरुआत हमेशा अष्टमी में करते हैं और पारण नवमी तिथि में, इसलिए बहुत से लोग इस बार जन्माष्टमी के व्रत को शुक्रवार 19 अगस्त को रखेंगे।

Shri Krishna Janmashtami 2022

जन्माष्टमी का त्योहार प्रति वर्ष बहुत ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। जैसा कि हम सभी श्री कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार प्रति वर्ष भादो माह के कृष्ण पक्ष के अष्टमी तिथि के रोहिणी नक्षत्र में मनाते हैँ क्योंकि इसी दिन कृष्ण जी का जन्म हुआ था। इस त्योहार की सबसे ज्यादा धूम आपको मथुरा, वृंदावन, द्वारका और बरसाना में देखने को मिलता है। श्रीकृष्ण जी का जन्म इसी दिन मध्यरात्रि को हुआ था, इसीलिए इस दिन हम श्रीकृष्ण जी के बाल स्वरूप की पूजा करते हैं। आइये जानते हैं अब इस तिथि को कि Shri Krishna Janmashtami 2022 किस दिन मनाई जाए।

Krishna Janmashtami

Shri Krishna Janmashtami 2022 तिथि व शुभ मुहूर्त :

अष्टमी तिथि का आरंभ- 18 अगस्त गुरुवार रात्रि 09:21 से होगा।  

अष्टमी तिथि की समाप्ति – 19 अगस्त शुक्रवार रात्रि 10:59 तक रहेगा।

जन्माष्टमी 2022 विशेष मुहूर्त और राहुकाल

अभिजीत मुहूर्त- 18 अगस्त को 12:05 से लेकर दोपहर 12:56 तक रहेगा।

वृद्धि योग- 17 अगस्त बुधवार को दोपहर 08:56 से लेकर 18 अगस्त गुरुवार रात्रि 08:41 तक रहेगा।

राहुकाल- गुरुवार 18 अगस्त दोपहर 02:06 से लेकर 03:42 तक रहेगा।

Shri Krishna Janmashtami पूजन विधि 2022 :

व्रत के दिन सुबह उठ कर स्नान आदि करके स्वच्छ कपड़े पहनने चाहिए। उसके बाद श्रीकृष्ण जी का पूजन करें, उन्हें दूध और गंगाजल से स्नान कराकर वस्त्र, मुकुट, वेजयंती माला, बाँसुरी आदि सभी चीजों से उनका शृंगार करें। उनके झूलें को भी फूलों से सुंदर-सा सजाए। श्रीकृष्ण जी को भोग में फल, मखाना, मक्खन, मिस्री, मिठाई आदि चढ़ाएं। धूप, दीप, अगरबत्ती आदि दिखाकर उनकी पूजा करें। रात 12 बजे श्री कृष्ण जी का जन्म कर उनकी पूजा करें, आरती करें, फिर भजन-कीर्तन करें, हो सकें तो जागरण भी करें। 

यह भी पढ़े-  Nikki Tamboli ने मुंबई की बारिश में करवाया अपने फैन्स से फोटोशूट

डिसक्लेमर: यह पाठ्य सामग्री और पूजन विधि इंटरनेट पर मौजूद धारणाओं पर लिखी गई है, इसकी सटीकता की गारंटी नहीं है।

World Environment Day 2022 का इतिहास और कैसे हुई थी शुरुआत?

CWG 2022 Medal Tally Common Wealth Game 2022

आपको यह सभी पोस्ट Video के रूप में भी हमारे YouTube चैनल  Education 4 India पर भी मिल जाएगी।

djaiswal4uhttps://educationforindia.com
Educationforindia.com share all about science, maths, english, biography, general knowledge,festival,education, speech,current affairs, technology, breaking news, job, business idea, education etc.
RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments