NCERT Solutions For Class 8 Science Chapter 2 | Microorganisms Friend And Foe

NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 2 | Microorganisms Friend and Foe

NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 2

  आज हम आप लोगों को कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 2 (NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 2) के सूक्ष्मजीव: मित्र एवं शत्रु प्रश्न-उत्तर (Microorganisms Friend and Foe Question Answer) के बारे में बताने जा रहे है। इसके अतिरिक्त यदि आपको और भी NCERT से सम्बन्धित पोस्ट चाहिए तो आप हमारे website के Top Menu में जाकर प्राप्त कर सकते हैं।

NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 2 Question Answer | सूक्ष्मजीव: मित्र एवं शत्रु प्रश्न-उत्तर

अभ्यास

1. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए-

(क) सूक्ष्मजीवों को __________ की सहायता से देखा जा सकता है।

उत्तर – सूक्ष्मदर्शी

 (ख) नीले-हरे शैवाल वायु से _________ का स्थिरीकरण करते हैं जिससे मिट्टी की उर्वरता में वृद्धि होती है।

उत्तर – नाइट्रोजन

(ग) एल्कोहल का उत्पादन __________ नामक सूक्ष्मजीव की सहायता से किया जाता है।

उत्तर – यीस्ट

(घ) हैजा __________ के द्वारा होता है।

उत्तर – जीवाणु

2. सही शब्द के आगे ( ü ) का निशान लगाइए-

(क) यीस्ट का उपयोग निम्न के उत्पादन में होता है :

(i) चीनी

(ii) एल्कोहल

(iii) हाइड्रोक्लोरिक अम्ल

(iv) ऑक्सीजन

उत्तर – एल्कोहल

(ख) निम्न में से कौन सा प्रतिजैविक है?

(i) सोडियम बाइकार्बोनेट

(ii) स्ट्रेप्टोमाइसिन

(iii) एल्कोहल

(iv) यीस्ट

उत्तर – स्ट्रेप्टोमाइसिन

(ग) मलेरिया परजीवी का वाहक है:

(i) मादा एनॉफ्लीज़ मच्छर

(ii) कॉकरोच

(iii) घरेलू मक्खी

(iv) तितली

उत्तर – मादा एनॉफ्लीज़ मच्छर

(घ) संचरणीय रोगों का सबसे मुख्य कारक है :

(i) चींटी

(ii) घरेलू मक्खी

(iii) ड्रेगन मक्खी

(iv) मकड़ी

उत्तर – घरेलू मक्खी

(ङ) ब्रेड अथवा इडली फूल जाती है इसका कारण है :

(i) ऊष्णता

(ii) पीसना

(iii) यीस्ट कोशिकाओं की वृद्धि

(iv) माढ़ने के कारण

उत्तर – यीस्ट कोशिकाओं की वृद्धि

(च) चीनी को एल्कोहल में परिवर्तित करने के प्रक्रम का नाम है :

(i) नाइट्रोजन स्थिरीकरण

(ii) मोल्डिंग

(ii) किण्वन

(iv) संक्रमण

3. कॉलम-I के जीवों का मिलान कॉलम-II में दिए गए उनके कार्य से कीजिए –

कॉलम-Iकॉलम-II
(क) जीवाणु(v) हैजा का कारक
(ख) राइजोबियम(i) नाइट्रोजन स्थिरीकरण
(ग) लैक्टोबेसिलस(ii) दही का जमना
(घ) यीस्ट(iii) ब्रेड की बेकिंग
(ङ) एक प्रोटोजोआ(iv) मलेरिया का कारक
(च) एक विषाणु(vi) AIDS का कारक

4. क्या सूक्ष्मजीव बिना यंत्र की सहायता से देखे जा सकते हैं। यदि नहीं, तो वे कैसे देखे जा सकते हैं?

उत्तर – नहीं,सूक्ष्मजीवों को बिना किसी यंत्र की सहायता के बिना नहीं देख सकते। सूक्ष्मजीवों का आकार छोटा होने के कारण इन्हें हम सूक्ष्मदर्शी की सहायता से ही देख सकते हैं।

5. सूक्ष्मजीवों के मुख्य वर्ग कौन-कौन से हैं?

उत्तर – सूक्ष्मजीवों को चार मुख्य चार वर्गों में बाँटा गया है।

  1. जीवाणु
  2. कवक
  3. प्रोटोज़ोआ
  4. शैवाल

6. वायुमण्डलीय नाइट्रोजन का मिट्टी में स्थिरीकरण करने वाले सूक्ष्मजीवों के नाम लिखिए।

उत्तर – वायुमण्डलीय नाइट्रोजन का मिट्टी में स्थिरीकरण करने वाले सूक्ष्मजीवों के नाम -लैग्यूम

7. हमारे जीवन में उपयोगी सूक्ष्मजीवों के बारे में 10 पंक्तियाँ लिखिए।

उत्तर – हमारे जीवन में उपयोगी सूक्ष्मजीवों के बारे में 10 पंक्तियाँ निम्नलिखित हैं-

  1. कुछ जीवाणु एवं नीले-हरे शैवाल वायुमंडलीय नाइट्रोजन का स्थिरीकरण करके मिट्टी की उर्वरता को बढ़ा देते हैं।
  2. जीवाणुओं द्वारा अनेक प्रतिजैविक अथवा एंटीबायोटिक औषधियों का निर्माण होता है।
  3. लैक्टोबैसिलस नामक जीवाणु दूध को दही में परिवर्तित कर देते है।
  4. कुछ जीवाणु एल्कोहल, शराब एवं एसिटिक एसिड के उत्पादन में सहायक होते हैं।
  5. कुछ जीवाणुओं का उपयोग टीका (वैक्सीन) बनाने में भी किया जाता है।
  6. जीवाणुओं द्वारा हम ब्रेड, पेस्ट्री एवं केक बनाते है।
  7. पेड़- पौधों को रोगों से बचाने के लिये भी जीवाणुओं का उपयोग किया जाता है।
  8. जीवाणु मनुष्यों तथा जंतुओं को रोगों से बचाने का काम करते हैं।
  9. जीवाणु हमारे पर्यावरण को स्वच्छ और संतुलित बनाए रखते हैं।
  10.  कुछ जीवाणु किण्वन अथवा फर्मेंटेशन में भी सहायक होते हैं। 

8. सूक्ष्मजीवों द्वारा होने वाले हानिकारक प्रभावों का संक्षिप्त विवरण कीजिए।

उत्तर – सूक्ष्मजीवों द्वारा होने वाले हानिकारक प्रभाव निम्नलिखित हैं-

  1. कुछ सूक्ष्मजीव हमारे भोजन में विषैले पदार्थ का उत्पादन करते हैं।
  2. कुछ सूक्ष्मजीव पौधों में रोग उत्पन्न करते है।
  3. सूक्ष्मजीव मनुष्यों तथा जंतुओं में भी रोग उत्पन्न करते हैं।
  4. कुछ कवक तो लकड़ी और चमड़े को भी नष्ट कर देते है।

9. प्रतिजैविक क्या हैं? प्रतिजैविक लेते समय कौन-सी सावधानियाँ रखनी चाहिए?

उत्तर – ऐसी औषधियाँ जो बीमारी पैदा करने वाले सूक्ष्मजीवों को नष्ट कर देती हैं अथवा उनकी वृद्धि को रोक देती है, प्रतिजैविक अथवा एंटीबायोटिक औषधियाँ कहलाती है।

हमें डॉक्टर की सलाह पर ही प्रतिजैविक दवाइयाँ लेनी चाहिए और उस दवा का कोर्स भी पूरा करना चाहिए अन्यथा आप जब दूसरी बार बीमार होंगें तो यह दवाइयाँ उतनी असरदार नहीं होंगी।

NCERT Solutions for Class 10 Hindi

            इस पोस्ट के माध्यम से हम कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 2 (NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 2) के सूक्ष्मजीव: मित्र एवं शत्रु प्रश्न-उत्तर (Microorganisms Friend and Foe Question Answer) के बारे में  जाने। उम्मीद करती हूँ कि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा। पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले। किसी भी तरह का प्रश्न हो तो आप हमसे कमेन्ट बॉक्स में पूछ सकतें हैं। साथ ही हमारे Blogs को Follow करे जिससे आपको हमारे हर नए पोस्ट कि Notification मिलते रहे।

          आपको यह सभी पोस्ट Video के रूप में भी हमारे YouTube चैनल  Education 4 India पर भी मिल जाएगी।

यह भी पढ़े-  NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 3 | Synthetic Fibers and Plastics
Scroll to Top