Thursday, October 6, 2022
HomeNCERT Solutions for Class 8 Science HindiNCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 1 | Crop Production and...

NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 1 | Crop Production and Management

             आज हम आप लोगों को कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 1 (NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 1) के फसल उत्पादन एवं प्रबंधन प्रश्न-उत्तर (Crop Production and Management question answer) के बारे में बताने जा रहे है। इसके अतिरिक्त यदि आपको और भी NCERT से सम्बन्धित पोस्ट चाहिए तो आप हमारे website के Top Menu में जाकर प्राप्त कर सकते हैं।

NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 1 Question and Answer | फसल उत्पादन एवं प्रबंधन

अभ्यास

  1. उचित शब्द छाँट कर रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए – 

          तैरने, जल, फसल, पोषक, तैयारी

(क) एक स्थान पर एक ही प्रकार के बड़ी मात्रा में उगाए गए पौधों को _______कहते हैं।

उत्तर – फसल

(ख) फसल उगाने से पहले प्रथम चरण मिट्टी की _________ होती है।  

उत्तर – तैयारी

(ग) क्षतिग्रस्त बीज जल की सतह पर ________ लगेंगे

उत्तर – तैरने

(घ) फसल उगाने के लिए पर्याप्त सूर्य का प्रकाश एवं मिट्टी से ________तथा ________ आवश्यक हैं।    

उत्तर – जल, पोषक

2. ‘कालम A’ में दिए गए शब्दों का मिलान ‘कालम B’ से कीजिए 

कॉलम A                                      कॉलम B

(i) खरीफ़ फसल                            (a) मवेशियों का चारा 

(ii) रबी फसल                               (b) यूरिया एवं सुपर फॉस्फेट उत्तर – (iii )

(iii) रासायनिक उर्वरक                   (c) पशु अपशिष्ट, गोबर, मूत्र एवं पादप अवशेष उत्तर – (iv)

(iv) कार्बनिक खाद                        (d) गेहूँ, चना, मटर उत्तर – (ii)

                                                  (e) धान एवं मक्का उत्तर – (i)

3. निम्न के दो-दो उदाहरण दीजिए 

(क) खरीफ़ फसल 

उत्तर – धान, मक्का, सोयाबीन, मूंगफली, कपास

(ख) रबी फसल 

उत्तर – गेहू, कहना, मटर, सरसों, अलसी

4. निम्न पर अपने शब्दों में एक-एक पैराग्राफ लिखिए 

(क) मिट्टी तैयार करना 

उत्तर : मिट्टी तैयार करना: फसल को उगाने का सबसे पहला चरण मिट्टी को तैयार करना है। कृषि का सबसे महत्वपूर्ण कार्य है मिट्टी को उलट-पलट कर उसे पोला बनाना ताकि जड़े सरलता से श्वसन कर सके। मिट्टी में उपस्थित केचुआ और सूक्ष्मजीव किसानों के मित्र होते है जो मिट्टी को पलटकर उसे पोली बनाने में सहायता करते है और ह्यूमस बनाते है। ऊपरी सतह में पाये जाने वाली मिट्टी पौधे की वृद्धि मे सहायक होती है और इस मिट्टी को उलटने-पलटने से पोषक पदार्थ ऊपर आ जाते है जो पौधे इस पोषक पदार्थ को आसानी से अवशोषित कर लेते है। मिट्टी को उलटने-पलटने एवं पोल करने की प्रक्रिया को जुताई कहते है।

यह भी पढ़े-  NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 9 | Reproduction in Animals

(ख) बुआई.

उत्तर : बुआई : बुआई फसल के उत्पादन करने का सबसे प्रमुख चरण है। किसानों की बीज बोने से पहले अच्छी गुणवत्ता स्वस्थ तथा साफ बीजों का चयन करना चाहिए जिससे वह अधिक ऊपज दे सके।

बीजों को अधिक दूरी पर बोना आवश्यक है ताकि पौधे सूर्य के प्रकाश, जल एवं पोशाक पदार्थ पर्याप्त मात्रा में प्राप्त कर सके। पौधे को अधिक घनेपन को रोकने के लिए कुछ पौधों को हट दिया जाता है। बीजों को बोने के लिए दो औजारों का भी प्रयोग किया जाता है जैसे –

  1. परम्परागत औजार
  2. सील- ड्रिल

(ग) निराई 

उत्तर : निराई: खेतों में बहुत सारे पौधे ऐसे होते है जो अवांछित रूप में प्रकृति द्वारा उग जाते है, इस अवांछित(जिनकी जरूरत न हो) पौधों को ही खरपतवार कहते है।  खरपतवार हटाने को निराई कहते है। खरपतवार को हटन अनिवार्य है क्योकि ये सूर्य,जल,जगह एवं पोषक पदार्थों को अवशोषित करके फसल के वृद्धि पर प्रभाव डालते है।

 (घ) थ्रेशिंग 

उत्तर : थ्रेशिंग– काटी गई फसल के बीजों को भूसे से अलग करना ही थ्रेशिंग कहलाता है। इस कार्य को काम्बाइन मशीन द्वारा किया जाता है।

5. स्पष्ट कीजिए कि उर्वरक खाद से किस प्रकार भिन्न है?

उत्तर :

क्र. सं. उर्वरक खाद
1उर्वरक एक मानव निर्मित लवण है ।खाद एक प्रकार का प्राकृतिक पदार्थ है जो गोबर एवं पौधों के अवशेष के विघटन से प्राप्त होता है।
2उर्वरक का उत्पादन फैक्ट्रियों में किया जाता है।खाद को खेतों में बनाया जा सकता है। 
3उर्वरक से मिट्टी को ह्यूमस प्राप्त नही होता है।खाद से मिट्टी को ह्यूमस अधिक मात्रा में प्राप्त होता है।
4उर्वरक में पादप पोषक अधिक मात्रा में पाए जाते है।  जैसे- नाइट्रोजन, फॉस्फोरस तथा पोटैशियम  खाद में पादप पोषक उर्वरक की तुलना में काम होते हैं।
उर्वरक एवं खाद में अंतर

6. सिंचाई किसे कहते हैं? जल संरक्षित करने वाली सिंचाई की दो विधियों का वर्णन कीजिए।

यह भी पढ़े-  NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 5 | Materials Coal and Petroleum

उत्तर : सिचाई – पौधे में बृद्धि एवं परिवर्धन के लिए जल बहुत ही आवश्यक है। पौधे के जड़ों द्वारा ही जल, खनिज, एवं उर्वरकों अवसोसन होता है। पौधों में 90 % जल ही पाया जाता है। ‘निक्षित अंतराल में खेतों में जल देना ही सिचाई कहलाता है ।

छिड़काओ तंत्र – इस विधि का उपयोग असमतल भूमि के लिए होता है जहाँ पर कम मात्रा में जल पाया जाता है । इनमें उपयोग होने वाले सभी पाइपों के ऊपरी सिरे पर घूमने वाले नोजल लगे होते हैं, जो मुख्य पाइप से नीछित दूरी पर जुड़े होते हैं । पम्प की सहायता से जल पाइप से होते हुए नोजल से बाहर बारिश के जैसे निकलता है । इस तरह के जल का छिड़काऊ कॉफी के खेती वाले फसलों के लिए बहुत उपयोगी है।

ड्रिप तंत्र – इस विधि के द्वारा जलो को बूंद बूंद क्र के सीधे जड़ों में गिराया जाता है  जिसे ड्रिप-तंत्र कहते हैं । यह फल देने वाले पौधों एवं बगीचों को पनि देने का सबसे अच्छा तरीका है । यह विधि जल के कमी वाले छेत्रों के लिए वरदान है ।

7. यदि गेहूँ को खरीफ़ ऋतु में उगाया जाए तो क्या होगा? चर्चा कीजिए। 

उत्तर : गेहूँशीत ऋतु में उगाया जाने वाला एक रबी फसल है। यदि गेहूँको खरीफ ऋतु में उगाया जायेगा तो फसल बर्बाद हो जायेगा क्योकि खरीफ ऋतु जून से सितम्बर तक होता है और उस समय काफ़ी वर्षा होती है। गेहूँकी फसल को यदि इस समय उगाया गया तो अधिक मात्रा में पानी मिलने के कारण सड़कर खराब हो जायेगा ।

यह भी पढ़े-  NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 7 | Conservation of Plants and Animals

8. खेत में लगातार फसल उगाने से मिट्टी पर क्या प्रभाव पड़ता है? व्याख्या कीजिए। 

उत्तर : खेत में लगातार फसल उगाने से मिट्टी में उपस्तीत खनिज व पोसक पदार्थों की कमी हो जाति है । जिससे पौधे कमजोर हो जाते हैं। इसी कमी को पूरा करने के लिए किसान खेतों में खाद का प्रयोग करते हैं। 

9. खरपतवार क्या हैं? हम उनका नियंत्रण कैसे कर सकते हैं? 

उत्तर : खरपतवार –  खेतों में बहुत सारे पौधे ऐसे होते है जो अवांछित रूप में प्रकृति द्वारा उग जाते है, इस अवांछित (जिनकी जरूरत न हो) पौधों को ही खरपतवार कहते है। 

खरपतवार नियन्त्रण – रसायनों का उपयोग कर के खरपतवार पर नियन्त्रण किया जा सकता है, जिन्हे खर्पटवारनाशी कहते हैं । उदाहरण – 2, 4-D

इसका छिड़काऊ खेतों मे किया जाता है जिससे खरपतवार पौधे मार जाते हैं। और फसल को भी कोई नुकसान नहीं होता है। आवश्यकतानुसार जल में खरपतवारनाशी को मिलकर खेतों में स्प्रैयर की सहायता से छिड़काऊ किया जाता है

10. निम्न बॉक्स को सही क्रम में इस प्रकार लगाइए कि गन्ने की फसल उगाने का रेखाचित्र तैयार हो जाए। 

NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 1
NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 1

11. नीचे दिए गए संकेतों की सहायता से पहेली को पूरा कीजिए

ऊपर से नीचे की ओर

  1. सिंचाई का एक पारंपरिक तरीका

2. बड़े पैमाने पर पालतू पशुओं की उचित देखभाल करना

3. फसल जिन्हें वर्षा ऋतु में बोया जाता है 

6. फसल पक जाने के बाद काटना 

बाई से दाईं ओर 

  1. शीत ऋतु में उगाई जाने वाली फसलें  

4. एक ही किस्म के पौधे जो बड़े पैमाने पर उगाए जाते हैं

5. रसायनिक पदार्थ जो पौधों को पोषक प्रदान करते हैं 

7. खरपतवार हटाने की प्रक्रिया 

NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 1
NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 1
NCERT Solutions for Class 10 Hindi

            इस पोस्ट के माध्यम से हम कक्षा 8 विज्ञान अध्याय 1 (NCERT Solutions for Class 8 Science Chapter 1) के फसल उत्पादन एवं प्रबंधन प्रश्न-उत्तर (Crop Production and Management question answer)के बारे में  जाने। उम्मीद करती हूँ कि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा। पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले। किसी भी तरह का प्रश्न हो तो आप हमसे कमेन्ट बॉक्स में पूछ सकतें हैं। साथ ही हमारे Blogs को Follow करे जिससे आपको हमारे हर नए पोस्ट कि Notification मिलते रहे।

          आपको यह सभी पोस्ट Video के रूप में भी हमारे YouTube चैनल  Education 4 India पर भी मिल जाएगी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments