दादी माँ पाठ का प्रश्न-उत्तर | NCERT Solutions For Class 7 Hindi Chapter 2 Question Answer

      दादी माँ पाठ का प्रश्न-उत्तर | NCERT Solutions For Class 7 Hindi Chapter 2 Question Answer

       आज हम आप लोगों को वसंत भाग-2 के कक्षा-7  का पाठ-2 (NCERT Solutions for Class 7 Hindi Chapter 2 Vasant Bhag 2 ) के दादी माँ पाठ का प्रश्न-उत्तर (Dadi Maa class 7 Hindi Chapter 2 Question Answer ) के बारे में बताने जा रहे है जो कि शिवप्रसाद सिंह (Shivprasad Singh) द्वारा लिखित है। इसके अतिरिक्त यदि आपको और भी NCERT हिन्दी से सम्बन्धित पोस्ट चाहिए तो आप हमारे website के Top Menu में जाकर प्राप्त कर सकते हैं।  

दादी माँ पाठ का प्रश्न-उत्तर | Dadi Maa class 7 Hindi Chapter 2 Question Answer

कहानी से

प्रश्न 1. लेखक को अपनी दादी माँ की याद के साथ-साथ बचपन की और किन-किन बातों की याद आ जाती है?

उत्तर जब लेखक को मालूम हुआ कि उनकी दादी माँ की मृत्यु हो गई है तो उनके आँखों के सामने दादी माँ की सभी यादें सजीव हो उठीं। साथ ही उन्हें अपने बचपन की बहुत सारी बातें भी याद आने लगी जैसे –लेखक के न चाहते हुए भी गंधपूर्ण झाग से भरे जलाशयों में कूद कर नहाना, फिर बीमार हो जाने पर दादी माँ का दिन-रात सेवा करना, किशन भैया की शादी में औरतों द्वारा गाए जाने वाले मनमोहक गीत और रात के अभिनय के समय चादर ओढ़कर सोना और फिर पकड़े जाना, रामी चाची की घटना आदि भी याद आ जाती हैं।

 प्रश्न 2. दादा की मृत्यु के बाद लेखक के घर की आर्थिक स्थिति खराब क्यों हो गई थी?

उत्तर- दादाजी की मृत्यु के बाद लेखक के घर की आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो गई थी क्योंकि जीवन में कपटी मित्रों एवं शुभचिंतकों की जैसे बाढ़-सी आ गई । इन गलत मित्रों की संगति ने घर का सारा धन नष्ट कर डाला। इसके अतिरिक्त दादाजी के श्राद्ध में भी दादी माँ के मना करने के बावजूद लेखक के पिता जी ने ज्यादा धन व्यर्थ किए। खर्च की हुई यह संपत्ति घर की नहीं थी, कर्ज में ली गई थी। दादी माँ के मना करने के बावजूद भी पिताजी ने नहीं माना जिससे घर की मौजूदा हालत बिगड़ गई।

प्रश्न 3. दादी माँ के स्वभाव का कौन-सा पक्ष आपको सबसे अच्छा लगता है और क्यों?

उत्तर- दादी माँ के अंदर ऐसे बहुत सारे स्वभाव थे जो मुझे बहुत अच्छे लगते थे, जैसे- दादी माँ का सेवा करने का स्वभाव, लोगों की रक्षा करना, लोगों पर उपकार करना व सरस स्वभाव आदि क्योंकि इन्हीं के कारण ही वे दूसरों का मन जीतने में हमेशा सफल रहती थी।

      लेखक के बीमार हो जाने पर दादी द्वारा उनकी सेवा करना, रामी चाची की बेटी की शादी में उनके घर जाकर उनकी सहायता करना व पिछला बकाया ऋण माफ़ करना, लेखक के पिता जी की आर्थिक तंगी को दूर करने के लिये सोने का कंगन दादी द्वारा उन्हें देना आदि। इन सब बातों से यह पता चलता है कि दूसरों की मदद करना ही उनके जीवन का प्रमुख उद्देश्य था।

 कहानी से आगे

प्रश्न 1. आपने इस कहानी में महीनों के नाम पढ़े, जैसे-क्वार, आषाढ़, माघ। इन महीनों में मौसम कैसा रहता है, लिखिए।

उत्तर-

क्वार – क्वार का महीना बारिश और सर्दियों के बीच का महीना होता है। इस महीने में न ही अधिक गर्मी होती है और न ही अधिक सर्दी होती है।

आषाढ़ – आषाढ़ के महीने में बहुत ज्यादा गर्मी व कभी-कभी कुछ वर्षा होती है।

माघ – माघ के महीने में अत्यधिक सरदी रहती है।

प्रश्न 2. ‘अपने-अपने मौसम की अपनी-अपनी बातें होती हैं’-लेखक के इस कथन के अनुसार, यह बताइए कि किस मौसम में कौन-कौन सी चीजें विशेष रूप से मिलती हैं?

उत्तर- मौसम तीन प्रकार के होते हैं- सर्दी, गर्मी और बरसात

सर्दी-

सर्दी के मौसम में बहुत ज्यादा ठंड पड़ती है। लोग गरमा-गर्म पेय पदार्थ पीना पसंद करते हैं। सर्दी के मौसम में फलों में सेब, अमरूद, केले व अंगूर मिलते हैं तथा सब्जियों में पालक का साग, बथुआ का साग, सरसों का साग, मटर, फूलगोभी व मूली अधिक मात्रा में मिलते हैं।

गर्मी-

गर्मी के मौसम में आम, लीची, खरबूजा, तरबूज, खीरा, ककड़ी, अंगूर फल मिलते हैं। सब्जियों में भिंडी, टिंडा, तोरई, घीया, कटहल, खीरा, ककड़ी आदि अधिक मिलते हैं।

बरसात-

बरसात के मौसम में अत्यधिक वर्षा और तेज हवा चलती है। कई प्रकार के फल जैसे- आम, आलूबुखारा, खुरमानी के अलावा इस मौसम के सब्जियों में बैंगन, करेले, परवल, फलियाँ आदि काफ़ी मात्रा में पाए जाते हैं।

अनुमान और कल्पना

प्रश्न 1. इस कहानी में कई बार ऋण लेने की बात आपने पढ़ी। अनुमान लगाइए, किन-किन पारिवारिक परिस्थितियों में गाँव के लोगों को ऋण लेना पड़ता होगा और यह उन्हें कहाँ से मिलता होगा? बड़ों से बातचीत कर इस विषय में लिखिए।

उत्तर- गाँव के लोग ज्यादातर आर्थिक तंगी से परेशान रहते हैं। कई बार उन लोगों के सामने ऐसी परिस्थितियाँ आ जाती हैं कि लोगों को ऋण लेना पड़ जाता है। जैसे- शादी-विवाह के खर्च के लिए, मकान बनवाने के लिए, बच्चों की फ़ीस जमा करने के लिए, फसलों की बुआई के लिए, पशु खरीदने के लिए, किसी पारिवारिक सदस्य की मृत्यु के बाद उसके अंतिम संस्कार के लिए आदि।

यह ऋण उन्हें गाँव के ज़मीदारों व साहूकारों के द्वारा प्राप्त होता है। आजकल यह ऋण सहकारी बैंक, राष्ट्रीयकृत बैंक, सरकार के विभागों, डाकघरों आदि से भी मिलने लगा है।

प्रश्न 2. घर पर होनेवाले उत्सवों/समारोहों में बच्चे क्या-क्या करते हैं? अपने और अपने मित्रों के अनुभवों के आधार पर लिखिए।

उत्तर- घर पर होनेवाले उत्सवों/समारोहों में बच्चे बहुत कुछ करते हैं जैसे- नए-नए कपड़े पहनना, बहुत से प्रकार के खाने का आनंद लेना व नाच-गाकर खूब मस्ती करना आदि।

इसके अतिरिक्त यदि आप कुछ और भी करते हैं तो आप अपने मित्रों से भी इस विषय में बातचीत कीजिए और लिखिए।

भाषा की बात

प्रश्न 1. नीचे दी गई पंक्तियों पर ध्यान दीजिए-

ज़रा – सी कठिनाई पड़ते

अनमना – सा हो जाता है

सन – से सफ़ेद

 समानता का बोध कराने के लिए सा, सी, से का प्रयोग किया जाता है। ऐसे पाँच और शब्द लिखिए और उनका वाक्य में प्रयोग कीजिए।

उत्तर-

क्रं शब्द वाक्य-प्रयोग
1      फूल-सी आज तुम फूल-सी सुंदर लग रही हो।
2 मिश्री-सी छोटी बच्चियों की बातें मिश्री-सी मीठी होती है।
3 सुंदर-सा इस गाने का मुखड़ा कितना सुंदर-सा है।
4 शहद-सा यह आम शहद-सा मीठा है।
5 रुई-से नानी-जी के बाल रुई-से भी सफेद हो गए है।

 

प्रश्न 2. कहानी में ‘छू-छूकर ज्वर का अनुमान करतीं, पूछ-पूछकर घरवालों को परेशान कर देतीं’-जैसे वाक्य आए हैं। किसी क्रिया को जोर देकर कहने के लिए एक से अधिक बार एक ही शब्द का प्रयोग होता है। जैसे वहाँ जा-जाकर थक गया, उन्हें ढूँढ़-ढूँढ़कर देख लिया। इस प्रकार के पाँच वाक्य बनाइए।

उत्तर-

  1. मैं तो चल-चल कर थक गया।
  2. माँ न जाने क्यों जोर-जोर से चिल्ला रही थी।
  3. रोहन छत से गिरते-गिरते बच गया।
  4. सागर के किनारे दूर-दूर तक कोई जहाज नहीं था।
  5. मेरे बार-बार मना करने पर भी शीला घर छोड़कर चला गया।

प्रश्न 3. बोलचाल में प्रयोग होनेवाले शब्द और वाक्यांश ‘दादी माँ’ कहानी में हैं। इन शब्दों और वाक्यांशों से पता चलता है कि यह कहानी किसी विशेष क्षेत्र से संबंधित है। ऐसे शब्दों और वाक्यांशों में क्षेत्रीय बोलचाल की खूबियाँ होती हैं। उदाहरण के लिए-निकसार, बरह्मा, उरिन, चिउड़ा, छौंका इत्यादि शब्दों को देखा जा सकता है। इन शब्दों का उच्चारण अन्य क्षेत्रीय बोलियों में अलग ढंग से होता है, जैसे-चिउड़ा को चिड़वा, चूड़त्र, पोहा और इसी तरह छौंका को छौंक, तड़का भी कहा जाता है। निकसार, उरिन और बरह्मा शब्द क्रमशः निकास, उऋण और ब्रह्मा शब्द का क्षेत्रीय रूप हैं। इस प्रकार के दस शब्दों को बोलचाल में उपयोग होनेवाली भाषा/बोली से एकत्र कीजिए और कक्षा में लिखकर दिखाइए।

उत्तर- निम्नलिखित बोलचाल की भाषा में प्रचलित शब्द और इनका हिंदी रूपांतर-

मिट्टी-माटी, मट्टी

घासलेट-मिट्टी का तेल, किरासीन तेल

घना-अधिक

बंदा-व्यक्ति

चादर-चद्दर

प्यार-दुलार

सुबह-सबेरा, सवेरा

नाटक-नौटंकी

कौआ-कागा, कउवा

विवाह-ब्याह, शादी

कृष्ण-किशन

घड़ा-मटका, गगरी, घइली

स्नान-नहाना

छात्र आप भी इसी तरह के अन्य क्षेत्रीय भाषाओं के शब्द सीखकर लिखने का प्रयास करें।

दादी माँ पाठ का सारांश | Dadi Maa Class 7 Hindi Chapter 2 Summary

          लेखक को हर समय अपने गाँव के घर की याद Read More 

       इस पोस्ट के माध्यम से हम वसंत भाग-2 के कक्षा-7  का पाठ-2 (NCERT Solutions for Class 7 Hindi Chapter 2 Vasant Bhag 2 ) केदादी माँ पाठ का प्रश्न-उत्तर (Dadi Maa class 7 Hindi Chapter 2 Question Answer ) के बारे में  जाने जो की शिवप्रसाद सिंह (Shivprasad Singh) द्वारा लिखित हैं । उम्मीद करती हूँ कि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा। पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले। किसी भी तरह का प्रश्न हो तो आप हमसे कमेन्ट बॉक्स में पूछ सकतें हैं। साथ ही हमारे Blogs को Follow करे जिससे आपको हमारे हर नए पोस्ट कि Notification मिलते रहे।

          आपको यह सभी पोस्ट Video के रूप में भी हमारे YouTube चैनल  Education 4 India पर भी मिल जाएगी।

NCERT / CBSE Solution for Class-9 (HINDI)

NCERT / CBSE Solution for Class-10 (HINDI)

NCERT / CBSE Solution for Class-6 (HINDI)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x
error: Content is protected !!