NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 5 Aksharon Ka Mahatva | अक्षरों का महत्व प्रश्न-उत्तर 

           आज हम आप लोगों को वसंत भाग-1 के कक्षा-6  का पाठ-5 (NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Bhag 1 Chapter 5) के अक्षरों का महत्व पाठ का प्रश्न-उत्तर (Aksharon Ka Mahatva Question Answer) के बारे में बताने जा रहे है जो कि गुणाकर मुले (Gunkar Mule)  द्वारा लिखित है। इसके अतिरिक्त यदि आपको और भी NCERT हिन्दी से सम्बन्धित पोस्ट चाहिए तो आप हमारे website के Top Menu में जाकर प्राप्त कर सकते हैं।  

Aksharon Ka Mahatva Question Answer | NCERT Class 6 Hindi Chapter 5 Question Answer 

प्रश्न-अभ्यास

निबंध से 

प्रश्न 1. पाठ में ऐसा क्यों कहा गया है कि अक्षरों के साथ एक नए युग की शुरुआत हुई?

उत्तर : अक्षरों की खोज के साथ एक नए युग की शुरुआत इसलिए हुई क्योंकि लोग हिसाब-किताब लिख कर रखने लगे, इससे लोगों को ‘सभ्य’ माना जाने लगा। किसी भी देश का इतिहास तब से शुरू होता है जब से उस देश के आदमी के लिखे हुए लेख मिलने लग जाते है। और इन्हीं लिखे हुए लेख के कारण ही एक पीढ़ी के लोग दूसरे पीढ़ी को जानने लगे

प्रश्न 2. अक्षरों की खोज का सिलसिला कब और कैसे शुरू हुआ? पाठ पढ़कर उत्तर लिखो।

उत्तर : अक्षरों की खोज का सिलसिला लगभग छः हजार साल पहले हुआ है। सबसे पहले मानव ने चित्रों के माध्यम से अपने भावों को व्यक्त किया जैसे- पशुओं के चित्र, पक्षियों के चित्र, आदमियों के चित्र आदि। उसके बाद भाव संकेत आया जैसे- एक छोटे से वृत (गोला) के चारों ओर किरणों की रेखाएँ खिच देने से वह सूर्य का चित्र बन जाता है। इस तरह अनेकों भाव संकेत मानव जाति के अस्तित्व में आये।

प्रश्न 3. अक्षरों के ज्ञान से पहले मनुष्य अपनी बात को दूर-दराज के इलाकों तक पहुँचाने के लिए किन-किन माध्यमों का सहारा लेता था?

उत्तर : अक्षरों के ज्ञान से पहले मनुष्य अपनी बातों को दूर-दराज के इलाकों में पहुँचाने के लिए अनेक चित्रों का सहारा लिया जैसे- पशु, पक्षी, आदमी आदि। बाद ये चित्र संकेतों में परिवर्तित हो गए।

निबंध से आगे 

प्रश्न 1. अक्षरों के महत्त्व की तरह ध्वनि के महत्त्व के बारे में जितना जानते हो, लिखो।

उत्तर : जिस प्रकार अक्षरों को हम लिख कर बताते हैं उसी प्रकार ध्वनि को हम बोल कर बताते है। व्यक्ति जब किसी बात को बोलता है और हम अपने कानों से उस बात को सुनते है वही ध्वनि कहलाता है। जिस प्रकार अक्षरों के बिना हम लिखने की कल्पना नहीं कर सकते उसी प्रकार ध्वनि बिना हम बोल नहीं सकते। इसीलिए अक्षरों के साथ ध्वनि का भी महत्वपूर्ण योगदान है।

प्रश्न 2. मौखिक भाषा का जीवन में क्या महत्त्व होता है? इस पर शिक्षक के साथ कक्षा में बातचीत करो।

उत्तर : मौखिक भाषा का हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान है क्योंकि हम बोलकर ही अपने बातों को बता सकते है। ध्वनि ही मौखिक भाषा का आधार है।  

प्रश्न 3. हर वैज्ञानिक खोज के साथ किसी-न-किसी वैज्ञानिक का नाम जुड़ा होता है, लेकिन अक्षरों के साथ ऐसा नहीं है, क्यों? पता करो और शिक्षक को बताओ।

उत्तर : अक्षरों की खोज किसी एक व्यक्ति द्वारा नहीं हुआ है। अक्षरों की खोज हजारों साल पहले कई लोगों के सम्मिलित प्रयास के माध्यम से हुआ है इसलिए इस खोज में हम किसी एक व्यक्ति का नाम नहीं ले सकते।

प्रश्न 4. एक भाषा को कई लिपियों में लिखा जा सकता है। उसी तरह कई भाषाओं को एक ही लिपि में लिखा जा सकता है। नीचे एक ही बात को अलग-अलग भाषाओं में लिखा गया है। इन्हें ध्यान से देखो और इनमें दिए गए वर्णों  की मदद से कोई नया शब्द बनाने की कोशिश करो-

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 5

उत्तर : विद्यार्थी स्वयं करें।

 अनुमान और कल्पना 

प्रश्न 1. पुराने ज़माने में लोग यह क्यों सोचते थे कि अक्षर और भाषा की खोज ईश्वर ने की थी? अनुमान लगाओ और बताओ?

उत्तर : पुराने जमाने के लोगों का ज्ञान सीमित था, उनका ईश्वर के प्रति अधिक विश्वास था। पुराने जमाने के लोग यही सोचते थे कि जिस तरह इस दुनिया की खोज ईश्वर ने की है उसी प्रकार अक्षर और भाषा की खोज भी ईश्वर ने की होगी।   

प्रश्न 2. अक्षरों के महत्त्व के साथ ही मनुष्य के जीवन में गीत, नृत्य और खेलों का भी महत्व है। कक्षा में समूह में बातचीत करके इनके महत्त्व के बारे में जानकारी इकट्ठी करो और कक्षा में प्रस्तुत करो।

उत्तर : अक्षरों की महत्वपूर्णता के साथ-साथ गीत, नृत्य और खेलों का भी हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण स्थान है। जिस प्रकार गीत और नृत्य हमारे संस्कृति का विकास करते है उसी प्रकार खेल से भी हमारा शारीरिक विकास होता है।

प्रश्न 3. क्या होता अगर…

(क) हमारे पास अक्षर न होते

(ख) भाषा न होती

उत्तर : (क) यदि हमें अक्षरों का ज्ञान नहीं होता तो-

  1. हम हजारों साल पहले की दुनिया में भटकते रहते।
  2. हमारा ज्ञान आगे की पीढ़ी तक नहीं पहुँचता।
  3. हम अपने विचारों और भावों को लिखकर व्यक्त नहीं कर पाते।
  4. हमें लिखित रूप में कुछ भी प्राप्त नहीं होता।

(ख) यदि भाषा नहीं होता तो-

  1. लोग अपने विचारों को बोलकर व्यक्त नहीं कर सकते।
  2. हमारा सामाजिक दायरा बढ़ नहीं पता।

भाषा की बात 

प्रश्न 1. अनादि काल में रेखांकित शब्द का अर्थ है जिसकी कोई शुरुआत या आदि न हो। यह शब्द मूल शब्द के शुरू में कुछ जोड़ने से बना है। इसे उपसर्ग कहते हैं। इन उपसर्गों को अलग करके मूल शब्दों को लिखकर उनका अर्थ समझो-

असफल ……….

अदृश्य …………

अनुचित ……….

अनावश्यक ………

अपरिचित ………..

अनिच्छा …………

उत्तर

शब्द उपसर्ग मूल शब्द अर्थ
असफल सफल कामयाब
अनुचित उचित ठीक
अपरिचित अन् परिचित जानकार
अदृश्य अन् दृश्य जो दिखाई दे
अनावश्यक आवश्यक जरूरी
अनिच्छा अन् इच्छा अभिलाषा

 

प्रश्न 2. वैसे तो संख्याएँ संज्ञा होती हैं पर कभी-कभी ये विशेषण का काम भी करती हैं, जैसे नीचे लिखे वाक्य में-

  • हमारी धरती लगभग पाँच अरब साल पुरानी है।
  • कोई दस हजार साल पहले आदमी ने गाँवों को बसाना शुरू किया।

इन वाक्यों में रेखांकित अंश ‘साल’ संज्ञा के बारे में विशेष जानकारी दे रहे हैं, इसलिए संख्यावाचक विशेषण हैं। संख्यावाचक विशेषण का इस्तेमाल उन्हीं चीजों के लिए होता है जिन्हें गिना जा सके, जैसे– चार संतरे, पाँच बच्चे, तीन शहर आदि। पर यदि किसी चीज़ को गिना नहीं जा सकती तो उसके साथ संख्या वाले शब्दों के अलावा मापतोल आदि के शब्दों का इस्तेमाल भी किया जाता है-

  • तीन जग पानी
  • एक किलो चीनी

यहाँ रेखांकित हिस्से परिमाणवाचक विशेषण हैं, क्योंकि इनका संबंध मापतोल से है। अब आगे लिखे हुए को पढ़ो। खाली स्थानों में बाक्स में दिए गए मापतोल के उचित शब्द छाँटकर लिखो।

प्याला         कटोरी        एकड़         मीटर                                                                        

लीटर         किलो          ट्रक            चम्मच

तीन ………….. खीर

दो …………. ज़मीन

छह ………….. कपड़ा

एक …………. रेत

दो …………… कॉफ़ी

पाँच …………… बाजरा

एक ………….. दूध

तीन ………….. तेल

उत्तर :

तीन कटोरी खीर

छह मीटर कपड़ा

दो चम्मच कॉफी

एक प्याला दूध

दो एकड़ जमीन

एक ट्रक रेत

पाँच किलो बाजरा

तीन लीटर तेल

कुछ करने को 

प्रश्न 1. अपनी लिपि के कुछ अक्षरों के बारे में जानकारी इकट्ठी करो-

(क) जो अब प्रयोग में नहीं रहे।

(ख) प्रचलित नए अक्षर जो अब प्रयोग में आ गए हैं।

उत्तर- (क) जो प्रयोग में अब नहीं है- ञ

(ख) प्रचलित नए अक्षर जो प्रयोग में आ गए है- अ, झ, ख, ल

 प्रश्न 2. लिखित और मौखिक भाषा के हानि-लाभ के बारे में दोस्तों के बीच चर्चा करो।

उत्तर : छात्र स्वयं करें

 प्रश्न 3. अक्षर ध्वनियों (स्वरों और व्यंजनों) के प्रतीक होते हैं। उदाहरण के लिए ‘हिंदी’, ‘उर्दू’ और ‘बाँग्ला’ आदि शब्दों में प्रत्येक अक्षर के लिए उसकी ध्वनि निर्धारित है। कुछ चित्रों से भी संकेत व्यक्त होते हैं। नीचे कुछ चित्र दिए गए हैं। उनसे क्या संकेत व्यक्त होते हैं, बताओ –

NCERT Solutions for Class 6 Hindi Chapter 5

उत्तर : पहला चित्र में हमें यह बताया जा रहा है कि आगे स्कूल है।

दूसरा चित्र में हमें यह बताया जा रहा है कि वृत के बायीं ओर जाना है।

तीसरे चित्र में हमें यह बताया जा रहा है कि सड़क दाईं ओर घूम रही है।

चौथे चित्र में यह बताया जा रहा है कि सड़क बाईं ओर घूमेगी।

प्रश्न 4. अपने आस-पास के किसी मूक-बधिर बच्चों के स्कूल में जाकर कुछ समय बिताओ और अपने अनुभव लिखो।

उत्तर- छात्र स्वयं करें।

          इस पोस्ट के माध्यम से हम वसंत भाग-1 के कक्षा-6  का पाठ-5 (NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Bhag 1 Chapter 5) के अक्षरों का महत्व पाठ का प्रश्न-उत्तर (Aksharon Ka Mahatva Question Answer) के बारे में  जाने जो की गुणाकर मुले (Gunkar Mule) द्वारा लिखित हैं । उम्मीद करती हूँ कि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा। पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले। किसी भी तरह का प्रश्न हो तो आप हमसे कमेन्ट बॉक्स में पूछ सकतें हैं। साथ ही हमारे Blogs को Follow करे जिससे आपको हमारे हर नए पोस्ट कि Notification मिलते रहे।

          आपको यह सभी पोस्ट Video के रूप में भी हमारे YouTube चैनल  Education 4 India पर भी मिल जाएगी।

NCERT / CBSE Solution for Class-9 (HINDI)

NCERT / CBSE Solution for Class-10 (HINDI)