बचपन प्रश्न-उत्तर | Bachpan Question Answer | NCERT Solutions for Class 6 Hindi Vasant Bhag 1 Chapter 2  

           आज हम आप लोगों को वसंत भाग-1 के कक्षा-6  का पाठ-2 (NCERT Solutions for Class-6 Hindi Vasant Bhag-1 Chapter-2) के बचपन पाठ का प्रश्न-उत्तर (Bachpan Class 6 Question Answer) के बारे में बताने जा रहे है जो कि कृष्णा सोबती (Krishna Saubati)  द्वारा लिखित है। इसके अतिरिक्त यदि आपको और भी NCERT हिन्दी से सम्बन्धित पोस्ट चाहिए तो आप हमारे website के Top Menu में जाकर प्राप्त कर सकते हैं।   

बचपन पाठ के प्रश्न उत्तर | Class 6 Hindi Chapter 2 Bachpan Question Answer

प्रश्न 1 : लेखिका बचपन (Bachpan) में इतवार की सुबह क्या-क्या काम करती थी ?

उत्तर : लेखिका बचपन में हर इतवार की सुबह अपने मोजे धोती थी, फिर अपने जूते को पॉलिश करके उसे कपड़े या ब्रश से रगड़-रगड़कर चमकाती थी।

प्रश्न 2 : तुम्हें बताऊँगी कि हमारे समय और तुम्हारे समय में कितनी दूरी हो चुकी है।’-इस बात के लिए लेखिका क्या-क्या उदाहरण देती हैं?

उत्तर : लेखिका अपने समय से आज के समय की दूरी को बताने के लिए यह उदाहरण देती हैं की उनके समय में रेडियो और टेलीविज़न की जगह घरों में ग्रामोफ़ोन हुआ करते थे। उन दिनों कुल्फ़ी होती थी अब आइसक्रीम हो गई। कचौड़ी-समोसा भी अब पैटीज़ में बदल गया है। शहतूत, फ़ाल्से और खसखस के शरबत के शरबत अब कोक और पेप्सी में बादल गया है । उन दिनों कोक नहीं मिलती थी  लेमनेड और विमटो मिलती थी।

प्रश्न 3 : पाठ से पता करके लिखो कि लेखिका को चश्मा क्यों लगाना पड़ा? चश्मा लगाने पर उनके चचेरे भाई उन्हें क्या कहकर चिढ़ाते थे?

उत्तर : क्योकि लेखिका दिन के उजाले के वजह रात में टेबल लैंप के सामने बैठकर काम करती थी इसीलिए उनकी नजर कमजोर हो गई , इसी वजह से उन्हें चश्मा लगाना पड़ा। जब पहली बार लेखिका चश्मा लगाई तो उनके एक चचेरे भाई उन्हें छेड़ते हुए कहा 

“आँख पर चश्मा लगाया

ताकि सूझे दूर की

यह नहीं लड़की को मालूम

सूरत बनी लंगूर की! “

प्रश्न 4 : लेखिका अपने बचपन (Bachpan) में कौन-कौन सी चीजें मज़ा ले-लेकर खाती थीं? उनमें से प्रमुख फलों के नाम लिखो।

उत्तर : लेखिका को बचपन में चॉकलेट खाना काफ़ी पसंद था वो उसे बिस्तर पर लेटकर मजे से खाती थी। इसके अतिरिक्त चने जोर गरम और अनार दाने का चूर्ण खूब मजे लेकर खाती थी। शिमला के काफल , रसभरी कसमल और चेस्ट्नट उनके बहुत ही प्रिय फल थे उन्हे वे मजे ले कर खाती थी ।

संस्मरण से आगे

प्रश्न 1 : लेखिका के बचपन में हवाई जहाज़ की आवाजें, घुड़सवारी, ग्रामोफ़ोन और शोरूम में शिमला-कालका ट्रेन का मॉडल ही आश्चर्यजनक आधुनिक चीजें थीं। आज क्या-क्या आश्चर्यजनक आधुनिक चीजें तुम्हें आकर्षित करती हैं? उनके नाम लिखो।

उत्तर : आज कंप्यूटर, मोबाईल, इंटरनेट, रोबोट, मेट्रो ट्रेन, मोटर कार, बाइक जैसे आधुनिक चीजे हम ज्यादा आकर्षित करती हैं।

प्रश्न 2 : अपने बचपन की किसी मनमोहक घटना को याद करके विस्तार से लिखो।

उत्तर– छात्र स्वयं करें।

NCERT / CBSE Solution for Class-9 (HINDI)

NCERT / CBSE Solution for Class-10 (HINDI)

अनुमान और कल्पना

प्रश्न 1 : सन् 1935-40 के लगभग लेखिका को बचपन शिमला में अधिक दिन गुज़रा उन दिनों के शिमला के विषय में जानने का प्रयास करो।

उत्तर : लेखिका अपने बचपन के अधिकांश समय शिमला में गुजरे थे । उन दिनों शिमला धीरे धीरे  विकसित होने लगा था। वहाँ रेस्टोरेंट, मॉल आदि खुलने लगे थे। शिमला छोटी-छोटी पहाड़ियों से घिरा शहर था, छोटी सी चढ़ाई-चढ़कर गिरजा मैदान जा सकते थे और उतर कर मॉल जाया जाता था। शाम के समय धुंधलके में गहराते पहाड़, रिज पर घुड़सवारी और बढ़ती रौनक, मॉल के दुकानों की चमक और रिज पर स्कैंडल प्वांइट थी ये सब शिमला की खूबसूरती की एक झलक दिखाते हैं।

प्रश्न 2 : लेखिका ने इस संस्मरण में सरवर के माध्यम से अपनी बात बताने की कोशिश की है, लेकिन सरवर का कोई परिचय नहीं दिया है। अनुमान लगाइए कि सरवर कौन हो सकता है?

उत्तर : इस संस्मरण में लेखिका ने दो बार सरवर का नाम लिया है। हो सकता हे सरवर का नाम लेखिका ने एक संकेत के रूप में लिया हो । इसके अलावा उस व्यक्ति के लिए अन्य किसी भी संबोधन का प्रयोग नहीं किया है। अतः संभव हो सकता है कि सरवर कोई पत्रकार या उनका कोई मित्र लेखक रहा होगा जिन्हें वह अपनी जीवनी सुना रही हैं।

भाषा की बात

प्रश्न 1 : क्रियाओं से भी भाववाचक संज्ञाएँ बनती हैं। जैसे मारना से मार, काटना से काट, हारना से हार, सीखना से सीख, पलटना से पलट और हड़पना से हड़प आदि भाववाचक संज्ञाएँ बनी हैं। तुम भी इस संस्मरण से कुछ क्रियाओं को छाँटकर लिखो और उनके भाववाचक संज्ञा बनाओ।

उत्तर

क्रिया    भाववाचक संज्ञा
गूंजना      गूँज
उभरना उभार    
दौड़ना  दौड़
चढ़ना   चढ़ाई
गहराना गहराई
खींजना खीज़
बदलना बदलाव
सजाना सजावट

प्रश्न 2 : चार दिन, कुछ व्यक्ति, एक लीटर दूध आदि शब्दों के प्रयोग पर ध्यान दो तो पता चलेगा कि इसमें चार, कुछ और एक लीटर शब्द से संख्या या परिमाण का आभास होता है, क्योंकि ये संख्यावाचक विशेषण हैं। इसमें भी चार दिन से निश्चित संख्या का बोध होता है, इसलिए इसको निश्चित संख्यावाचक विशेषण कहते हैं और कुछ व्यक्ति से अनिश्चित संख्या का बोध होने से इसे अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण कहते हैं। इसी प्रकार एक लीटर दूध से परिमाण का बोध होता है इसलिए इसे परिमाणवाचक विशेषण कहते हैं।

अब तुम नीचे लिखे वाक्यों को पढ़ो और उनके सामने विशेषण के भेदों को लिखो-

(क) मुझे दो दर्जन केले चाहिए।

(ख) दो किलो अनाज दे दो।

(ग) कुछ बच्चे आ रहे हैं।

(घ) सभी लोग हँस रहे थे।

(ङ) तुम्हारा नाम बहुत सुंदर है।

उत्तर

(क) दो दर्जन- निश्चित संख्यावाचक विशेषण।

(ख) दो किलो- निश्चित परिणामवाचक विशेषण।

(ग) कुछ- अनिश्चित संख्यावाचक विशेषण।

(घ) सभी- अनिश्चित परिमाणवाचक विशेषण।

(ङ) सुंदर- गुणवाचक विशेषण

प्रश्न 3 : कपड़ों में मेरी दिलचस्पियाँ मेरी मौसी जानती थीं।

इस वाक्य में रेखांकित शब्द ‘दिलचस्पियाँ’ और ‘मौसी’ संज्ञाओं की विशेषता बता रहे हैं, इसलिए ये सार्वनामिक विशेषण हैं। सर्वनाम कभी-कभी विशेषण का काम भी करते हैं। पाठ में से ऐसे पाँच उदाहरण छाँटकर लिखो।

उत्तर : 

(क) हम बच्चे इतवार की सुबह इसी में लगाते। 

(ख) उन दिनों कुछ घरों में ग्रामोफ़ोन थे।

(ग) हमारा घर माल से ज्यादा दूर नहीं था।

(घ) अपने-अपने जूते पॉलिश करके चमकाते।

(ङ) यह गाना उन दिनों स्कूल में हर बच्चे को आता था।

     इस पोस्ट के माध्यम से हम वसंत भाग-1 के कक्षा-6  का पाठ-2 (NCERT Solutions for Class-6 Hindi Vasant Bhag-1 Chapter-2) के बचपन पाठ का प्रश्न-उत्तर (Bachpan Class 6 Question Answer) के बारे में  जाने जो की  कृष्णा सोबती (Krishna Saubati) द्वारा लिखित हैं । उम्मीद करती हूँ कि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा। पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले। किसी भी तरह का प्रश्न हो तो आप हमसे कमेन्ट बॉक्स में पूछ सकतें हैं। साथ ही हमारे Blogs को Follow करे जिससे आपको हमारे हर नए पोस्ट कि Notification मिलते रहे।

          आपको यह सभी पोस्ट Video के रूप में भी हमारे YouTube चैनल  Education 4 India पर भी मिल जाएगी।