Everest Meri Shikhar Yatra Summary | एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा सारांश | Class 9 Hindi Sparsh

Everest Meri Shikhar Yatra Summary | एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा सारांश | Class 9 Hindi Sparsh

Everest Meri Shikhar Yatra Summary | एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा सारांश | Class 9 Hindi Sparsh

        Everest Meri Shikhar Yatra Summary | एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा सारांश | Class 9 Hindi Sparsh 

          आज हम आप लोगों को स्पर्श भाग-1 कक्षा-9 पाठ-2 (NCERT Solutions for Class-9 Hindi Sparsh Bhag-1 Chapter-2) के एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा पाठ का सारांश (Everest Meri Shikhar Yatra Summary) के बारे में बताने जा रहे है जो कि बछेंद्री पाल (Bachendri Pal) द्वारा लिखित है। इसके अतिरिक्त यदि आपको और भी NCERT हिन्दी से सम्बन्धित पोस्ट चाहिए तो आप हमारे website के Top Menu में जाकर प्राप्त कर सकते हैं।

Everest Meri Shikhar Yatra Summary | एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा पाठ का सारांश

           लेखिका बचेंद्री पाल एवरेस्ट विजय के जिस अभियान दल में एक सदस्य थीं, लेखिका उस अभियान दल के साथ 7 मार्च, 1984 को दिल्ली से काठमांडू के लिए हवाई जहाज़ से गयी। एक मजबूत अग्रिम दल  हमारे पहुचने से पहले ‘बेस कैम्प’ पहुँच गया जो उस उबड-खाबड़ हिमपात के रास्ते को साफ कर सके,लेखिका एक स्थान का जिक्र किया जिसका नाम नमचे बाज़ार है और वहाँ से एवरेस्ट की प्राकृतिक छटा का बहुत सुंदर निरीक्षण किया जा सकता है। लेखिका ने बहुत भारी बड़ा सा बर्फ का फूल (प्लूम) देखा जो उन्हें आश्चर्य में डाल दिया। लेखिका केअनुसार वह बर्फ़ का फूल 10 कि.मी. तक लंबा हो सकता था।

          इस अभियान दल के सदस्य पैरिच नामक स्थान पर 26 मार्च को पहुँचे, जहाँ से आरोहियों और काफ़िलों के दल पर प्राकृतिक आपदा मँडराने लगी। यह संयोग की बात था कि 26 मार्च को अग्रिम दल में शामिल प्रेमचंद पैरिच लौट आए थे। उनसे खबर मिली कि 6000 मी. की ऊँचाई पर कैंप-1 तक जाने का रास्ता पुरी तरह से साफ़ कर दिया गया है। दूसरे-तीसरे दिन पार कर चौथे दिन दल के सदस्य अंगदोरजी, गगन बिस्सा और लोपसांग साउथ कोल पहुंच गए। 29 अप्रैल को 7900 मीटर की ऊँचाई पर उन लोगों ने कैंप-4 लगाया। लेखिका 15-16 मई, 1984 को बुद्ध पूर्णिमा के दिन ल्होत्से की बर्फीली सीधी ढलान पर लगाए गए सुंदर रंग के नाइलोन के बने टेंट के कैंप-3 में थी। कैंप में 10 और व्यक्ति थे। साउथ कोल कैंप पहुँचने पर लेखिका ने अपनी महत्वपूर्ण चढ़ाई की तैयारी शुरू कर दी। सारी तैयारिओं के बीच अभियान चल रही थी , पर्वतारोही दल आगे बढ़ता रहा और 23 मई, 1984 दोपहर के एक बजकर सात मिनट पर लेखिका एवरेस्ट की चोटी पर पहुँच गई।

यह भी पढ़े-  Diye Jal Uthe Summary | दिये जल उठे पाठ का सारांश | NCERT Solutions for hindi sanchayan chapter 6

 

कृतिका भाग-1 ( गद्य खंड )
सारांश  प्रश्नउत्तर 
अध्याय1 इस जल प्रलय में  प्रश्न-उत्तर
अध्याय2 मेरे संग की औरतें प्रश्न-उत्तर
अध्याय3 रीढ़ की हड्डी प्रश्न-उत्तर
अध्याय4 माटी वाली प्रश्न-उत्तर
अध्याय5 किस तरह आखिरकार  मैं हिंदी में आया प्रश्न-उत्तर

      

        एवरेस्ट की चोटी पर खड़ी होकर लेखिका ने अद्भुत अनुभव किया। लेखिका ने उन छोटी-छोटी भावों को भी लिपिबद्ध किया, जिन भावों को अभिव्यक्त कर पाना बहुत कठिन है। इस सफलता के बाद लेखिका को बहुत सारी बधाईयाँ मिली। लेखिका ने उस स्थान को फरसे से काटकर चौड़ा किया, जिस पर वह खड़ी हो सके। उन्होंने वहा राष्ट्रध्वज फहराया, और कुछ संक्षिप्त पूजा-अर्चना भी किया । विजय दल का वर्णन किया ,लेखिका ने वर्णनात्मक शैली को एकरूप बनाए रखा कि पाठक को इन घटनाओं का वर्णन आँखों देखा दृश्य जैसा लगने लगा।

Everest Meri Shikhar Yatra Question Answer | एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा पाठ्यपुस्तक के प्रश्न उत्तर

मौखिक

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर एक-दो पंक्तियों में दीजिए

प्रश्न 1. अग्रिम दल का नेतृत्व कौन कर रहा था?

उत्तर: Read More

        इस पोस्ट के माध्यम से हम स्पर्श भाग-1 कक्षा-9 पाठ-2 (NCERT Solutions for Class-9 Hindi Sparsh Bhag-1 Chapter-2) के एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा पाठ का सारांश (Everest Meri Shikhar Yatra Summary) के बारे में जाने जो कि बछेंद्री पाल (Bachendri Pal) द्वारा लिखित हैं । उम्मीद करती हूँ कि आपको हमारा यह पोस्ट पसंद आया होगा। पोस्ट अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूले। किसी भी तरह का प्रश्न हो तो आप हमसे कमेन्ट बॉक्स में पूछ सकतें हैं। साथ ही हमारे Blogs को Follow करे जिससे आपको हमारे हर नए पोस्ट कि Notification मिलते रहे।

यह भी पढ़े-  Everest Meri Shikhar Yatra Question Answer | एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा प्रश्न उत्तर | Class 9 Hindi Sparsh Chapter 2

          आपको यह सभी पोस्ट Video के रूप में भी हमारे YouTube चैनल  Education 4 India पर भी मिल जाएगी।

क्षितिज भाग -1 ( गद्य खंड )

  सारांश  प्रश्न-उत्तर 
अध्याय- दो बैलों की कथा प्रश्न -उत्तर
अध्याय- 2 ल्हासा की ओर प्रश्न -उत्तर
अध्याय- 3 उपभोक्तावाद की संस्कृति  प्रश्न -उत्तर
अध्याय- 4 साँवले सपनों की याद  प्रश्न -उत्तर
अध्याय- 5 नाना साहब की पुत्री देवी मैना को भस्म कर दिया गया प्रश्न -उत्तर
अध्याय- 6 प्रेमचंद के फटे जूते प्रश्न-उत्तर 
अध्याय- 7 मेरे बचपन के दिन प्रश्न-उत्तर 
अध्याय- 8 एक कुत्ता और एक मैना
काव्य खंड
भावार्थ  प्रश्न-उत्तर 
अध्याय-   9 कबीर दास की साखियाँ प्रश्न-उत्तर 
अध्याय- 10  वाख  प्रश्न उत्तर
अध्याय- 11 सवैये प्रश्न-उत्तर
संचयन भाग 1
सारांश  प्रश्न-उत्तर 
अध्याय- 1 गिल्लू  प्रश्न-उत्तर
अध्याय- स्मृति प्रश्न-उत्तर 
अध्याय- 3 कल्लू कुम्हार की उनाकोटी प्रश्न-उत्तर
स्पर्श भाग – 1 
  सारांश प्रश्न-उत्तर 
अध्याय- 1 दुःख का अधिकार प्रश्न-उत्तर 
अध्याय- 2 एवरेस्ट मेरी शिखर यात्रा प्रश्न-उत्तर
अध्याय- 3  तुम कब जाओगे, अतिथि प्रश्न-उत्तर

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top